गांधी जयंती पर इन टिप्स से दें स्पीच, बज उठेंगी तालियां

Gandhi Jayanti Speech In Hindi: महात्मा गांधी की जयंती हर वर्ष 2 अक्टूबर को मनाई जाती है। इस बार यानि कि 2023 में गांधीजी की 154वीं जयंती है। इस मौके पर स्कूलों सहित अन्य शिक्षण संस्थानों में प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती है। जिसमें स्टूडेंट्स भाषण देते हैं। ऐसे में स्टूडेंट्स की मदद के लिए हम यहां पर टिप्स बता रहे हैं, जिसका पालन करके वे बेहतरीन भाषण दे सकते हैं।

Gandhi Jayanti Speech In Hindi: महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। 2 अक्टूबर, 2023 को उनकी 154वीं जयंती है। उनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर गुजरात में हुआ था। ऐसे में क्या आप भी गांधी जयंती पर महात्मा गांधी के बारे में एक भाषण लिखने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन आपको इसमें दिक्कतें आ रही हैं तो इस लेख में हम महात्मा गांधी पर एक भाषण का टिप्स दे रहे हैं, जिसकी मदद से आप बढ़िया भाषण दे सकते हैं……

ऐसे लिखे भाषण
सुप्रभात, आदरणीय प्रधानाचार्य, शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों।

आज गांधी जयंती के शुभ अवसर पर हम सभी मोहनदास करमचंद गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए एकत्र हुए हैं। 2 अक्टूबर, 2023 को राष्ट्रपिता गांधीजी की 154वीं जयंती है। महात्मा गांधी वह असाधारण व्यक्ति थे जिन्होंने अहिंसा और सत्य की शक्ति से इतिहास की दिशा बदल दी थी।

गांधी जयंती सिर्फ उत्सव का दिन नहीं बल्कि चिंतन का दिन है। यह हमें उन सिद्धांतों की याद दिलाता है जिनके लिए गांधीजी खड़े थे। उन्होंने शांति, अहिंसा, करुणा और सत्य की निरंतर खोज की। उनका जीवन इस विचार का प्रमाण था कि उत्पीड़न और अन्याय के खिलाफ भी अहिंसा के दम पर बदलाव किया जा सकता है।

सत्य और अहिंसा के प्रति गांधीजी की अटूट प्रतिबद्धता ने दुनिया भर में नागरिक अधिकारों और स्वतंत्रता के लिए आंदोलनों को प्रेरित किया। ऐसे में आज भी उनकी विरासत एक अनुस्मारक के रूप में जीवित है। आज के अशांत दुनिया में भी, शांतिपूर्ण प्रतिरोध के माध्यम से भी परिवर्तन लगाया जा सकता है।

इस गांधी जयंती पर, आइए हम उनके द्वारा पोषित मूल्यों को बनाए रखने का संकल्प लें और एक ऐसी दुनिया के लिए काम करें जहां न्याय, समानता और अहिंसा कायम हो।

सभी को गांधी जयंती की शुभकामनाएं!

सत्यमेव जयते!

Leave a Comment